Story about love in hindi // मुहब्बत  का सफ़र 

 

Let`s read a true story about love in hindi laguage

मुहब्बत  का सफ़र 

लेडीज़ एन्ड जेन्टस ! आपका कैप्टन आपसे हम कलाम (बात करना) है।
आगे आन्धी की खबर है इसलिए आप लोगों से गुजारिश है कि सीट बैल्ट मजबूती से बान्ध
लें। शुक्रिया!”__

_ मैं यूं ही एक झुरझुरी सी लेकर रह गई। मुझे यह बात मालूम थी कि मेरे पहलू में बैठा
हुआ मुसाफ़िर मेरी तरफ़ देख रहा था। “तुम नर्वस नज़र आ रही हो?” अचानक
वह बोला। “हां।” मैंने तस्लीम किया- “तुम्हें कैसे पता चला?” मुझे किसी से बात करके सुकून सा हुआ।
“तुम जब से जहाज़ में सवार हुई हो मैं तुम्हें देख रहा हूं।” वह बोला- “तुम, क्या
कहना चाहिए, बहुत जल्दी घबरा जाने वालों में से हो।”
_ “तुम्हारे आराम  में तो रुकावट नहींहुई?” मैंने कहा।
_“बिल्कुल नहीं।” उसने जवाब दिया-
“तुम बहुत फिक्रमंद नज़र आ रही थीं इसलिए मैंने कह दिया। यह आन्धी कोई चीज नहीं है।

story about love in hindi

मैं सारी दुनिया के चक्कर लगाता रहता हूं। हमें सिर्फ बादलों के एक टुकड़े से गुजरना पड़ेगा।” मैं सिर्फ सर हिलाकर रह गई।
“एक बात कहूं?” वह दोबारा बोला- “अगर हम बातें करते रहे तो तुम्हारा ध्यान इस
तरफ़ से हट जाएगा। तो आओ बातचीत करें।
मेरा नाम चैक मीटर्ज है।”__

_“जीनी वाल्टर।” मैंने मिलाने के लिए हाथ आगे बढ़ाया।
_“अच्छा तो जीनी वालटर ! तुम आयरलैंड क्यों जा रही हो?” उसने पूछा।
_मैं …मैं…मुझे वहां किसी से मिलना है।” मैं हकला गई थी।
“आहा!” वह बोला- “मेरे ख्याल में कोई मर्द होगा। क्या मैं ठीक कह रहा हूं ?”
मैंने मन्जूरी में सर हिला दिया।
“कोई ब्वाय फ्रेन्ड ?” उसने पूछा।
“हां।”
“हुम!” उसने हुन्कारी भरी- “तुम बहुत खुश नज़र नहीं आती? क्या उससे झगड़ा हुआ
था?” “नहीं तो।”
“अगर मुझसे कहो कि मैं अपने काम से काम रखू तो मैं बिल्कुल बुरा नहीं मानूंगा।”
वह बोला- “लेकिन कभी कभी किसी अजनबी से बातें करने से दिल का बोझ हलका हो जाता है। किसी ऐसे आदमी से जिससे दोबारा मिलने की उम्मीद नहो।”
उसने जैसे मेरी दुखती हुई रग पर हाथ रख दिया। वह शक और मायूसी जो मेरे अन्दर
पनप रहे थे, मेरे ऊपर सवार हो गए। _

_ “बात सिर्फ इतनी सी है कि मेरे ख्याल में
मुझे नहीं जाना चाहिए था।” मैंने धीमे लहजे में कहा।
__ “बोलती रहो।” वह बोला।
“अस्ल में मैं जिससे मिलने जा रही हूं वह मेरा ब्वाय फ्रेन्ड नहीं, मेरा बॉस  है और शादी

शुदा है।” “समझा।” वह धीरे से बोला- “तो तुम्हारे बॉस  ने वीक एन्ड मनाने के लिए तुम्हें
बुलाया था और तुमने उसे मन्जूर कर लिया था।
लेकिन अब तुम महसूत कर रही हो कि तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था।”
मैंने हां में सर हिला दिया।
“पहली बात तो यह कि तुमने उसकी आफ़र क़बूल ही क्यों की ?” वह पूछ बैठा।
मैंने एक लम्हे के लिए गौर किया-
“क्योंकि मेरे ख्याल में मैं उससे मुहब्बत करती हूं।” मैंने कहा- “वह बहुत दिलचस्प है,
मेहरबान है और मैं उसे अच्छी तरह जानतीहूं। हम तीन साल से एक साथ काम कर रहे हैं।”
__ “क्या उसने पहले भी ऐसी पेशकश की थी?”
नहीं।” मैंने मना करने के अन्दाज़ में सर हिला दिया- “मेरे ख्याल में उधर कुछ
अरसे से उसकी फैमिली लाइफ में सुकून नहीं है। अगरचे हम उसके बारे में ज्यादा बातें नहीं
करते।” मैं फीके अन्दाज़ में मुस्कराई- “मैं समझती हूं कि जब किसी को घर में सुकून नहीं
मिलता तो वह अपनी सेक्रेट्री की तरफ मुकने लगता है।”
उसने सवालिया अन्दाज़ में सर हिलाया-
“तुम्हारी उम्र कितनी है ?” वह पूछ बैठा। “इक्कीस साल। क्यों?”
“तुम इस तरह की लड़की नहीं लगतीं जो  किसी तितली की तरह हर फूल पर बैठती है।
मैं ठीक कह रहा हूं, हैं ना?”
मैंने हां में सर हिलाया।
“फिर तुम खुद से पूछो कि उस मर्द के साथ तुम्हारा क्या हाल होगा?” वह बोला- “तुम
सिर्फ एक ररवैल की तरह उससे बन्ध कर अपनी कीमती जवानी बर्बाद करोगी क्योंकि तुम्हें किसी
की बीवी और मां होना चाहिए।”
_मैं भरोसे से नहीं कह सकती।” मैंने जवाब दिया।
_ अचानक बहुत ही तेज रौशनी का एक धमाका हुआ। हमारे इर्द गिर्द आसमान रौशन
हो उठा। बिजली चमकी थी। कुछ औरतों की तो चीखें ही निकल गयीं । मैंनेडर करजैक का
बाजू पकड़ लिया।  कोई बात नहीं।” उसने मेरा हाथ
थपथपा कर तसल्ली दी- “यह बिजली चमकी थी। हम बलन्दी पर होने की वजह से इसके
बहुत करीब हैं।”
अगले ही लम्हे बिजली जोर से कड़की।
_“लगता है हम तूफान में घिर गए हैं।” वह बोला- “अभी और बिजली कड़केगी। मेरा
बाजू थामे रहो । मैं भी तुम्हें थामे रहता हूं।” उसने अपना बाजू मेरी कमर में डाल दिया था।
__ अगले कुछ लम्हों तक बिजली चमकती रही। अचानक कैप्टन की आवाज़ कानों से
टकराई- “घबराने की बात नहीं है। मौसम की खराबी के कारण मैंने वापस बरमिंघम एयर
पोर्ट पर उतरने का फैसला किया है। मैं इस तकलीफ़ के लिए मुआफ़ी चाहता हूं। हम पन्द्रह
मिनट बाद बरमिंघम की फ़ज़ाओं में चक्कर -गा रहे होंगे।
__“क्या हमें कोई खतरा है ?” मैंने कांपते हुए पूछा।
“बिल्कुल नहीं।” उसने दिलासा दिया- “सब ठीक हो जाएगा। बस मुझसे बातें करती
रहो। अब मैं तुम्हें अपने बार में बताता हूं।”
_मैं उसके बाजू से हलके से ज़रा खिसक गई और पहली बार उसे अच्छी तरह देखा। उसके
बाल गहरे स्याह थे, आंखें नीली थीं, जिल्द की रंगत सांवली थी जिससे जाहिर होता था कि
वह दिनभर सनबाथ करता रहा है। पहली बार मुझे एहसास हुआ कि वह बहुत कशिश वाला
है और इसका मतलब यह था कि वह शादीशुदा हो सकता था और मेरा पहला सवाल उसी के बारे में था।

“क्या तुम शादी शुदा हो?” मैंने पूछा।
“नहीं।”
“कभी तुमने शादी की था!
“नहीं।” वह बोला- “शादी करने की फुर्सत ही नहीं मिली।”
“क्या करते हो?” “सेल्ज़ मेनेजरहूं।” उसने जवाब दिया-
“मेरा सम्बन्ध टैक्सटाइल बिजनिस से है इसलिए अक्सर हांगकांग जाना पड़ता है।”
“आयरलैंड क्योंजारहे हो? मेरा मतलब है जा रहे थे।”
__“वहां एक आयरिश मिल के मेनेजिंग डायरेक्टर से मेरी मीटिंग थी। लेकिन अब
लगता है कि वीकएन्ड के बाद ही वहां का प्रोग्राम बना सकूँगा।” वह मुस्कराया- “आयरलैंड
में फ्राई-डे के तीसरे पहर के मौके पर होटलों में ढेर सारा वक्त बेकार कर देते हैं।”
“तुम रहते कहां हो?” मैं पूछ बैठी।
“कारविक शायर में।” उसने जवाब
दिया- स्टैटफोर्ड के बाहरही मेरा नन्हा सा काटेज है।”
“अरे!” एकदम मेरे मुंह से निकल गया- “मैं तो वहीं सर्विस करती हूं।”
__“रहती भी वहीं हो?”
“हां।” मैंने जवाब दिया- “लेकिन मुझे दुख है मैं घूमने फिरने की ज्यादा रसिया नहीं
हूं। मैं अब भी अपने मां बाबप के साथ रहती हूं। मैं इतना नहीं कमाती कि कोई फ्लैट वगैरह
खरीद सकू।”
“तुम्हारे इस तफरीही सफ़र के बारे में तुम्हारे मां बाप क्या कहते हैं ?” उसने पूछा-
“क्या उन्हें इसकी खबर नहीं है ?”
“वे यह समझ रहे हैं कि मैं अपनी किसी सहेली के साथ वीकएन्ड गुजारने निकली हूं।”
मैंने कहा- “हमारा प्रोग्राम यह है कि आज रात मेरा बॉस  अपने घर फोन करके अपनी बीवी को बता देगा कि वह वीक एन्ड में वापस नहीं आ रहा।”
मुझे यह बताते हुए अच्छा नहीं लगा लेकिन जैक खूब खुलकर हंस पड़ा।
“हंस क्यों रहे हो?” मैंने खिसिया कर कहा।
“तुम किसी शादीशुदा से मुहब्बत करने के लिए ठीक नहीं हो।” वह बोला- “क्योंकि
तुम खुद को दोषी मानती हो।”
– “लेडीज़ एन्ड जेन्टस!” अचानक कैप्टन की आवाज एक बार फिर सुनाई दी- “हम
बरमिंघम एयरपोर्ट पर उतरने वाले हैं। आप
लोग अपनी सीट बैल्ट बान्धलें और सिग्रीट बुझा लीजिये  |

“जैक ! क्या सब ठीक हो जाएगा?”
मैंने पूछा।
“बिल्कुल।” उसने जवाब दिया।
जैसा कि उसने कहा था जहाज़ आराम से लैन्ड कर गया और उसके दस मिनट बाद हम
वापस एयरपोर्ट की इमारत में थे।
“अब।” वह बोला- “क्या यह अलविदा है?” उसने एक लम्हे रुककर कहा- “या नहीं है?
“तुम्हारा मतलब?”
“मैं दोबाराआयरलैंड नहींजारहा । क्या तुम जा रही हो?”
मैं कुछ लम्हे उसकी आंखों में झांकती रही- “नहीं… नहीं।” मैंने कहा- “बिल्कुल नहीं।”
“अच्छा तो फिर ऐसा करते हैं कि…।”
वह बोलते बोलते रुक गया- “मैं जाकर अपनी कम्पनीको रिंग करताहं और उन्हें बताता हूं
कि मैं आज नहीं आ रहा। तुम भीजाकर अपने बॉस को रिंग कर दो और उससे कहो कि तुम्हारा इरादा बदल गया है।”
लेकिन मैं उसे यह बता सकती हैं कि मौसम की खराबी के कारण हमारा जहाज
वापस आ गया है। मैंने कहा।”

“नहीं, यह मत कहो।” वह बोला- ‘ऐसा कहना बुजदिली होगी और तुम्हें मन्डे
की सुबह एक बार फिर उसका सामना करना पड़ेगा। उसे रिंगकरो औरकहो कि तुमने अपना इरादा बदल दिया है क्योंकि तुम नहीं समझती
कि यह अखलाकन अच्छीबात है और मैं जानता हूं कि तुम अखलाकी क़द्रो पर यकीन रखती हो। जब तुम यह कारनामा कर चुकोगी तो
मैं बतौरे इनआम तुम्हें इतना बढ़िया खाना खिलाने ले जाऊंगा कि तुमने ज़िन्दगी में अब
तक न खाया होगा।
उसका कहना ठीक था और अगले कुछ महीनों में मैंने देखा कि उसके मशवरों पर
अमल करने के नतीजे में मुझ पर खुशियों के दरवाजे खुल गये और जब इस मुलाकात के
छह महीने बाद उसने मुझसे शादी की पेशकश की तो मैंने किसी हिचकिचाहट के बगैर हां
कर दी। उसने पहले ही कहा था कि मुझे किसी की बीवी और मां बनने की जरूरत थी। 

Thanks for reading this story about love in hindi language

read more stories

love story in hindi

Love story in hindi | सच्ची  मुहब्बत

हेल्लो दोस्तों- आज मैं आपके लिए love story in hindi ले कर आया हूँ और मुझे पूरी उम्मीद है की आपको love story in hindi पसंद आएगी |  सच्ची  मुहब्बत मैं अपनी ग्रेजुएशन   की पड़ाई पूरी करने के बाद मै नौकरी की तलास में अपने गांव के एक दोस्त के साथ दिल्ली के पास नोएडा में …

Love story in hindi | सच्ची  मुहब्बत Read More »

0 comments
a love story in hindi

A love story in hindi | मेरी आशिकी तुम हो 

हैल्लो दोस्तों – आज मैं आपके लिए a love story in hindi ले कर आया हूँ और मुझे उम्मीद है आपको a love story in hindi बहुत पसंद आएगी |  मेरी आशिकी तुम हो  ये कहानी है उस समय  की है जब कॉलेज में २ कंपनियां आकर  चली गयीं थी और मेरा प्लेसमेंट अभी नहीं …

A love story in hindi | मेरी आशिकी तुम हो  Read More »

1 comment
story in hindi love

Story in hindi love || मुहब्बत हो गई

हैल्लो दोस्तों- आज मैं आपके लिए story in hindi love ले कर आया हूँ और मुझे आशा है आपको ये कहानी story in hindi love बहुत पसन्द आएगी |  मुहब्बत  हो गई मैं रोज़ सुबह अपने घर की छत पर जाकर  पढता  था , एक दिन की बात है में अपने घर की छत पर …

Story in hindi love || मुहब्बत हो गई Read More »

11 comments
story-for-love-in-hindi

Story for love in hindi // हाँ मैं हार गई ……

Let`s start reading a true story for love in hindi    हाँ मैं हार गई    मारिया ! तुम्हारे इस फलसफे को मैं गलत समझती हूं कि मुहब्बत हो जाती है। ग़लत, सरासर गलत । मुहब्बत तो की जाती है, स्टेटस देखकर, सब कुछ देख भालकर कि वह हमारे काबिल है भी या नहीं।” “तुम …

Story for love in hindi // हाँ मैं हार गई …… Read More »

7 comments
story of love in hindi

Story of love in hindi for lovers // सुबह होने को है 

Let`s read true story of love in hindi language    सुबह होने को है  दिलचस्प लव स्टोरी  जो खबर वह अभी अभी उसे  दे गई थी वह उसे मौत के अन्धे कुँए में  धकेल देने  के लिए काफ़ी थी। वह हैरत से आंखें फाड़े जाती जेनी की कमर पर झूलतीलम्बी चोटी को देखे जा रहा था। …

Story of love in hindi for lovers // सुबह होने को है  Read More »

0 comments

Story about love in hindi // मुहब्बत  का सफ़र 

  Let`s read a true story about love in hindi laguage मुहब्बत  का सफ़र  लेडीज़ एन्ड जेन्टस ! आपका कैप्टन आपसे हम कलाम (बात करना) है।आगे आन्धी की खबर है इसलिए आप लोगों से गुजारिश है कि सीट बैल्ट मजबूती से बान्धलें। शुक्रिया!”__ _ मैं यूं ही एक झुरझुरी सी लेकर रह गई। मुझे यह …

Story about love in hindi // मुहब्बत  का सफ़र  Read More »

0 comments
story on love in hindi

Story on Love in Hindi for Lovers – आग का दरिया 

Let`s Read a very interesting Story on love in Hindi Language. आग का दरिया  हिन्दोस्तान में जोहरा नाम की तीन  मशहूर तवाइफ गुजरी हैं । जोहरा बाई अम्बालेवाली, जोहरा बाई फैजाबादी और जोहरा बाई गोन्डा वाली। उनकी आवाज की शोहरत मुल्क के कोने कोने में थी मगर इन तीनों मुजरा करने वाली तवाइफों में जोहरा …

Story on Love in Hindi for Lovers – आग का दरिया  Read More »

0 comments

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                  

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.