Story in hindi love || मुहब्बत हो गई

हैल्लो दोस्तों- आज मैं आपके लिए story in hindi love ले कर आया हूँ और मुझे आशा है आपको ये कहानी story in hindi love बहुत पसन्द आएगी | 

मुहब्बत  हो गई

मैं रोज़ सुबह अपने घर की छत पर जाकर  पढता  था , एक दिन की बात है में अपने घर की छत पर सुबह-सुबह गया जहाँ ठंडी ठंडी हवा और निकलते सूरज की मीठी सी धूप और उस धूप में चमकता हुआ एक मासूम सा चेहरा, ठीक मेरे सामने वाले घर की छत पर मुझे नज़र आया मैंने  जैसे ही उस की तरफ देखा तो उसने अपनी नज़र झुका ली मनो जैसे उसकी कोई चोरी पकड़ी गई हो पर उस वक्त मेने इस बात पर ज्यादा गौर नहीं दिया, लकिन अगले रोज़ वैसा ही हुआ मुझे तो वो खिला हुआ चहरे से उसी दिन  मुहब्बत  हो गई पर क्या करता डरता जो था मेरा हर रोज़ छत पर जाना और चुपके चुपके से उसका मुझे देखना और मेरा उसे देखना बस यू ही चलता रहा में घर से कॉलेज को निकलता तो छत पर होती और जब वापस आता तब भी वो मेरा इन्तजार करती हुई छत पर ही बैठी हुई मिलती जैसे ही मुझे देखती वैसे ही खड़ी हो जाती और मुझे ऐसे निहारती मानो कई बरसो के बाद उसने मुझे देखा हो अभी तक न वो मेरा नाम जानती थी और ना में उसका,

story in hindi love

वक्त ऐसे ही गुजरता गया कुछ समय बिता में भी अब अपनी पढ़ाई पर कम और उस पर ज्यादा ध्यान देने लगा वो स्कूल जाती कोचिंग  जाती कही भी जाती उसका पीछा करते हुए हर जगह जाने लगा मेरा मन पढ़ाई में से बिलकुल हट गया मेरा मन बस उसी के बारे में सोचने लगा मेरे एग्जाम भी नज़दीक आ गए थे मुझे कुछ तो करना था  जब मुझसे नहीं रहा गया तो मेने उस से बोलने की ठान ली !  02.fab.2010 को मेने स्कूल ना जाने का फैसला लिया और सोचा क आज बोल दूँगा सुबह जब वो स्कूल गई तो उसके पीछे गया पर हिम्मत नहीं हुई उसके वापस आने का इंतजार किया पर तब भी कुछ नहीं बोल पाया वो अपने घर पर पहुंच गई और में अपने घर पर हल्की हल्की सी सर्दी हो रही थी तो में छत पर ही आ गया कुछ समय बाद वो भी छत पर आ गई और वही लेट गई में उसका बहुत देर से इंतजार कर रहा था वो जब आई तो लेट गई क्योकि उसने मुझे नहीं देखा में छुप कर उसका इंतजार कर रहा था जब में उसके सामने आया तो वो खड़ी हो गई और मुझे देखती रही.

मैने बहुत हिम्मत कर के उस से इसारे से पूंछा क्या तुम मुझसे प्यार करती हो? वो कुछ नहीं बोली मैने एक बार फिर से पूंछा वो फिर भी कुछ नहीं बोली मुझे गुस्सा आ गया और  में गुस्से में कमरे में चला गया और उसे छुप कर देखने लगा वो वापस लेटने चली गई २ मिन. बाद मेरा मन नहीं मना तो में वापस आया तो झट से खड़ी हो गई और अपने घर की गौक पर आ गई मैने इस बार फिर से पूंछा क्या तुम मुझसे प्यार करती हो………? कुछ देर मेरी तरफ देखा और फिर जो हुआ जैसे दुनिया सज गई हो मेरे चारो तरफ जैसे खुशियों का पहरा सा छा गया….. वो हां में अपना सिर हिला कर भाग गई और में बस उस में कही खो सा गया जब उसने हां बोला तो में बता नहीं सकता कि क्या हुआ पर वो एहसास ऐसा जो पहले कभी नहीं हुआ….. उस दिन फिर वो दुवारा मुझे नज़र नहीं आई मेरा दिल घबराने लगा कि कही वो मुझसे नाराज़ तो नहीं हो गई. रात हुई लेकिन इसी डर में नींद नहीं आई कि कही वो नाराज़ तो नहीं इन्तजार बड़ा लम्बा पड़ा रात इतनी लम्बी कभी न थी| 

 

इंतजार करते करते आखिर सबह हो ही गई हर बार कि तरह आज भी में छत पर गया लेकिन आज थोड़ा जल्दी पहुंच गया मौसम ने भी कही कोई कसर नहीं छोड़ी उस दिन इतना कोहरा था और इतनी शर्दी थी कि में शर्दी से ठिठुर गया बहुत देर बाद वो आ गई उसका वो प्यारा सा चेहरा और भी प्यारा लग रहा था बाल बिखरे हुए आँखों में नींद और दूर से इतना ज्यादा तो नज़र नहीं आ रहा था और उसके हाथ में टूथ ब्रश. आते ही जब उसने मुझे देखा तो इसारो में बोली क्या हुआ शर्दी नहीं लग रही क्या. और में कुछ नहीं बोल पाया बस उसे देखता रहा ! कुछ देर बाद मैने उस से इशारो में उसका मोब. न. पूंछा तो उसने मना कर दिया कि मोब. है नहीं कुछ देर बाद वो नीचे चली गई और में भी नहाने चला गया ! उस दिन जब वो स्कूल गई तो में उसके पीछे पीछे स्कूल तक गया पर कुछ कहा नहीं, उसके स्कूल टाइम पर कोचिंग के टाइम पर उसके साथ जाना मनो जैसे मेरी आदत ही बन गई मुझे हर टाइम बस उस टाइम का इन्तजार रहता जिस  टाइम पर वो घर से निकलती थी |

 

04.fab.2010 को जब वो स्कूल से वापस आ रही थी तो में उसके पीछे पीछे आ रहा था ! मैने कुछ कहा नहीं उसने रस्ते में सड़क पर एक पर्ची डाल दी घर जाकर मेने जब उस पर्ची को देखा तो उसमे लिखा था “7 बजे फ़ोन करना आज” मेने जब उसे देखा तो 7 बजने का इंतजार करने लगा शाम 7 बजे मेने फ़ोन किया तो एक प्यारी सी आवाज आई हेलो…. कुछ बाते हुई तब उसने अपना नाम बताया “सीमा”…….और फिर हमारी बाते होने लगी | 

दोस्तों ! आप सभी को ये कहानी story in hindi love कैसी लगी हमे जरूर बताइयेगा ताकि हम इसी तरह की कहानियाँ ले कर आ सके – धन्यवाद 

Read more stories

Hindi short story // नील – एक प्रेम कहानी

Story in hindi love // मुहब्बत हो गई

Story about love in hindi // मुहब्बत  का सफ़र 

Story for love in hindi // हाँ मैं हार गई ……

Piyar ki kahani // मुहब्बत का ताबूत 

Romantic story in hindi // इश्क़ का जूनून 

Romantic story hindi // मुहब्बत के ख़्वाब

Romantic stories in hindi // मुहब्बत की आग

Story on love in hindi for lovers // आग का दरिया 

Leave a Comment

Your email address will not be published.